September 29, 2022
Zero Ki Khoj Kisne Ki Thi

Zero Ki Khoj Kisne Ki Thi – दोस्तो स्वागत हैं फिर से आपका हमारे (Website) पर तो इस लेख में हम जानने वाले हैं की आखिर कौन है जो Zero यानी शून्य की खोज करी? मुझे लगता हैं अपको इसके बारे में ज्यादा जानकार नहीं हैं। इस लिए आप हमारे लेख तक पहुंचे हों, तो चिंता मात कीजिए हम आपको अपने लेख के मध्यम से बताएंगे की आखिर Zero Ki Khoj Kisne Ki Thi और कब हुई थी।

आज कल लोग इतने व्यस्त रहते है की इतिहास के बारे में जानने की रुचि ही नही रखते, एसे में कभी – कभी हमारे दोस्त या रिश्तेदार कभी न कभी कुछ इतिहास के बारे में या फिर किसी खोजक का नाम ही पूछ लेते हैं जैसे की मेरे से मेरी चाची कल पूछ रही थी Zero Ki Khoj Kisne Ki Thi और मुझे नही पता था।

इस लिए मैंने भी गूगल किया और सोचा यही मुझे नहीं पता हैं तो मेरे जैसे और लोग होंगे जिसको नही पता होगा इस लिए मैंने सोचा कि अपने ब्लॉक यानी लेख के मध्यम से आप लोगो को पूरी Research यानी खोज करके बताए की Zero Ki Khoj Kisne Ki Thi और कब की गई।

तो आईए जानते है की आखिर जीरो की खोज किसने की थी?

Read | Google Ka Avishkar Kisne Kiya Tha Aur Kab

Zero (0) यानी शून्य क्या हैं?

शून्य (0) जिसको हम जायदा तर “जीरो” बोलते हैं, यह एक गणितीय संख्या है जिसको अंग्रेज़ी में हम Zeroजीरो बोलते हैं गणित में शून्य यानि जीरो का महत्वपूर्ण भूमिका हैं। वैसे तो असल जिंदगी में जीरो का कोई Value यानी मान नही होता लेकिन दूसरी तरफ गणित में जीरो के बिना गणित पुरी नही होती।

कहने का मतलब यह है की यदि इसे किसी संख्या में जोड़ा जाता है, तो यह मान को दस गुना बढ़ा देता है। उदाहरण के लिए, यदि 10 में 1 और 0 जोड़ा जाता है और फिर 10 में 10 जोड़ा जाता है, तो परिणाम 100 और 100 होता है। इसके बाद 1000 आता है। पूरा करेंगे।

हालाँकि, यदि किसी संख्या से पहले 0 जोड़ा जाता है, तो उसका मान वही रहता है। उदाहरण के लिए, यदि 999 से पहले 0 जोड़ा जाता है, तो यह 0999 हो जाएगा, जिसका अर्थ है कि न तो संख्या का मान घटेगा और न ही बढ़ेगा।

शून्य का परिणाम 0 होगा यदि इसे वास्तविक संख्या से गुणा किया जाता है। जिस प्रकार किसी वास्तविक संख्या में से शून्य जोड़ने या घटाने पर समान संख्या प्राप्त होती है, (x * 0 = 0 या x* 0=0)। उदाहरण के लिए, यदि आप 0 को किसी वास्तविक पूर्णांक से विभाजित करते हैं, तो परिणाम अनंत (x + 0 = x; x – 0 = x) होगा।

Zero Ki Khoj Kisne Ki Thi Aur Kab

Zero Ki Khoj Kisne Ki Thi – जीरो कैसे बनना हीरो?

Zero Discovered By in Hindi – दोस्तो जैसा की हमे पता है गणित में 100 हो या 1000 यह अंक जीरो के बिना Zero ही रह जाते कहने का मतलब यह है कि Zero अगर नही आता तो हमें 1 से 9 तक ही गणित के अंक देखने को मिलता, तब इसे में गणित के अंक बढ़ने के लिए, ज़ीरो की स्थापना एक भारतीय गणितज्ञ और खगोलशास्त्री (Brahmagupta) ब्रह्मगुप्त ने 628 में की थी।

Zero Ki Khoj Kab Hui Thi? – जीरो की खोज कब हुई थी?

628 (BC) ईसा पूर्व में शून्य पाया गया था। ज़ीरो की खोज एक क्रांतिकारी युग की शुरुआत का प्रतीक है।

इससे गणितज्ञ घबरा गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.